राजीव गांधी खुद ईमानदार व्यक्ति थे, लोगों को बचाने में फंस गए : मलिक

0
37

पटना : बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने यहां शुक्रवार को कहा कि राजीव गांधी खुद ईमानदार व्यक्ति थे, लेकिन उनके आस-पास रहने वाले लोग खराब थे। पटना में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा, “राजीव गांधी ईमानदार व्यक्ति थे, लेकिन उनके आसपास के लोग खराब थे। राजीव अपने आसपास के लोगों को बचाने में फंस गए।”

ये भी देखें : मोदी की कश्मीर यात्रा से पहले सुरक्षा चुस्त, श्रीनगर और जम्मू सील

उन्होंने कहा कि बोफोर्स घोटाले में राजीव गांधी नहीं, बल्कि उनके नजदीकी लोग शामिल थे और उन्हें बचाने के कारण वे फंस गए। उन्होंने कहा कि राजीव की मजबूरी थी कि वह अपने नजदीकी लोगों के नाम सार्वजनिक नहीं कर सकते थे।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि राजनीति में आसपास के लोग ही अधिक परेशान करते हैं।

ये भी देखें : राजीव गांधी हत्याकांड : नलिनी की समय पूर्व रिहाई याचिका खारिज

गौरतलब है कि सन् 1980 के दशक में बोफोर्स घोटाले को लेकर भारत की राजनीति में उबाल आ गया था। इस घोटाले के बाद विश्वनाथ प्रताप सिंह ने कांग्रेस छोड़ दी थी और इसी मुद्दे को उछालकर विपक्षी पार्टियों को एकजुट कर उन्होंने जनता दल की सरकार बनाई थी, जिसे भाजपा ने बाहर से समर्थन दिया था। दलितों, पिछड़ों के लिए आरक्षण लागू करने पर भाजपा ने समर्थन वापस लेकर वी.पी. सिंह की सरकार गिरा दी थी। बाद में जब अहसास हुआ कि आरक्षण का विरोध कर सत्ता नहीं पाई जा सकती, तब भाजपा भी आरक्षण का समर्थन करने लगी। यह उन लोगों पर नागवार गुजरा, जिनके बेटों को आरक्षण के विरोध में आत्मदाह के लिए उकसाया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here