Health : पीलिया में खाने का रखें खास ख्याल

0
49
Health : पीलिया में खाने का रखें खास ख्याल

नई दिल्ली : गर्मी शुरू होते ही पीलिया यानी जॉंडिस के रोगी बढऩे लगते हैं। इसकी वजह इस मौसम में दूषित खानपान है। खासकर बर्फ का गोला, पानी बताशे और खराब तरीके से पैक किया हुआ पाउच का पानी आदि है। जब रोगी को अहसास हो कि शरीर पीला हो रहा है या उसे पीलिया हो सकता है, तो उसे पानी की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। जितना ज्यादा लिक्विड डाइट लेंगे उतनी ही जल्दी बीमारी से उबरेंगे। चिकित्सकों के अनुसार यदि ऐसे में कच्चा पपीता सलाद के रूप में लिया जाए तो भी पीलिया का असर जल्दी कम होता है। इसके अलावा भी आयुर्वेद में कई चीजों के बारे में विस्तार से वर्णन है कि किसी को खाने से पीलिया के रोगियों को लाभ मिलता है। जानते है इसके बारे में-

मूली: पीलिया के रोगी को गाय के दूध से बना पनीर व छेने का रसगुल्ला खाना चाहिए। इसके अलावा मीठे का कम सेवन ठीक रहता है। ऐसे में मूली का रस भी लाभदायक होता है। मूली के रस मे इतनी ताकत होती है कि वह खून और लीवर से अत्यधिक बिलिरूबीन को निकाल सके। रोगी को दिन में दो से तीन गिलास मूली का रस जरुर पीना चाहिए।

साबुत धनिए : पीलिया के असर को कम करने के लिए साबुत धनिए को रात भर पानी में भिगो दीजिए और उसे सुबह उठकर उसका पानी पीजिए। इससे लीवर से गंदगी साफ होगी और एनर्जी भी मिलेगी।

टमाटर : टमाटर का रस टमाटर में विटामिन सी पाया जाता है, इसलिए यह लाइकोपीन में रिच होता है, जो कि एक प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट हेाता है। इसलिए टमाटर का रस लीवर को स्वस्थ्य बनाने में लाभदायक होता है।।

यह भी पढ़ें : इन बीमारियों से झूझ रहे लोग न करें पार्टनर से लड़ाई, जानें वजह..

तुलसी पत्ता : आयुर्वेद में तुलसी की पत्ती को पीलिया में प्रभावी माना गया है। पीलिया के मरीज को सुबह खाली पेट 4-5 तुलसी की पत्तियां खानी चाहिए। यह एक प्राकृतिक उपाय है, जिससे लीवर साफ होता है। पीलिया होने पर नींबू का रस पीना फायदेमंद होता है। कोशिश करें कि प्रतिदिन खाली पेट एक ग्लास नींबू पानी जरूर लें। इसके अलावा पाइनएपल का सेवन भी लाभदायक माना जाता है।

पीलिया होने पर इनसे परहेज रखें

पीलिया में तला-भुना, मिर्च-मसाले वाला भोजन बहुत हानिकारक है, इसलिए ऐसी चीजों को कम से कम 20-25 दिन तक तो बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए। वसायुक्त भोजन से बीमारी ठीक होने के बाद भी दूर रहना चाहिए। पीलिया में मिठाइयां, बेसन की चीजें, मैदे के व्यंजन, मांस, मीट और अंडे, मछली नहीं खाने चाहिए । शराब का सेवन तो जहर की तरह काम करेगा, इसलिए शराब को छूना भी नहीं चाहिए। पीलिया में दूषित पानी और दूषित बासी भोजन को भी हर हाल में नहीं खाना चाहिए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here